डेटाबेस स्कीमा और सबस्कीमा क्या हैं? – Database Schema in Hindi

किसी भी डेटा मॉडल (Data Model) में डेटाबेस के विवरण (Description) एवं डेटाबेस के बीच विभेद करना अति महत्वपूर्ण होता है। किसी डेटाबेस के विवरण (Description) की डेटाबेस स्कीमा (Database Schema in Hindi) कहा जाता है और जिसमें बार-बार परिवर्तन करने की आशा नहीं की जाती है। डेटाबेस एप्लीकेशन (Database Application) में परिवर्तन करने पर स्कीमा (Schema) में परिवर्तन करने की आवश्यकता होती है किसी डेटाबेस स्कीमा (Database Schema) को जिस डायग्राम (Diagram) से दर्शाया जाता है उसे स्कीमा डायग्राम (Schema Diagram) कहते हैं।

उपरोक्त Fig.-1.05(a) और Fig.- 1.05(b) में Student डेटाबेस (Database) की दो टेबल्स (Tables) को एवं निम्नांकित Fig.-1.06 में इसके डेटाबेस स्कीमा (Database Schema) को दर्शाया गया है—

डेटाबेस स्कीमा (Database Schema), प्रत्येक रिकॉर्ड टाइप (Record Type) के स्ट्रक्चर (Structure) को दर्शाता है, परन्तु रिकॉर्ड्स (Records) के इन्सटेन्सेस (Instances) को नहीं दर्शाता है। किसी स्कीमा (Schema) में प्रत्येक ऑब्जेक्ट (Object); जैसे Student या Course को स्कीमा कन्सट्रक्ट (Schema Construct) कहा जाता है। 

स्कीमा डायग्राम (Schema Diagram) किसी स्कीमा (Schema) के कुछ ही पहलुओं (Aspects); जैसे— रिकॉर्ड टाइप्स (Record Types) के नामों, डेटा आइटम्स (Data Items) एवं कुछ प्रकार के कॉन्स्ट्रेन्ट्स (Constraints) को दर्शाता है। स्कीमा डायग्राम (Schema Diagram) में स्कीमा (Schema) के अन्य पहलुओं को निर्दिष्ट नहीं किया जाता है। उदाहरणस्वरूप, Fig.-1.06 न तो प्रत्येक डेटा आइटम (Data Item) के डेटा टाइप (Data Type) और न ही फाइल्स के बीच के रिलेशनशिप्स (Relationship) को दर्शाता है। विभिन्न प्रकार के कॉन्सटेन्ट्स (Constraints) भी स्कीमा डायग्राम (Schema Diagram) में रिप्रेजेन्ट (Represent) नहीं किए जाते हैं।

डेटाबेस स्कीमा (Database Schema) को मोटे तौर निम्नलिखित दो श्रेणियों में विभाजित किया जा सकता है-

फिजिकल डेटाबेस स्कीमा (Physical Database Schema ) – यह स्कीमा (Schema) डेटाबेस डिज़ाइन (Database Design) के भौतिक स्तर (Physical Level), जोकि एब्स्ट्रक्शन (Abstraction) का सबसे निम्न स्तर है और यह दर्शाता है कि वास्तव में डेटा (Data) को किस प्रकार स्टोर (Store) किया गया है, का वर्णन करती है। यह स्कीमा (Schema) डेटा (Data) की वास्तविक स्टोरेज (Storage) और स्टोरेज (Storage) के इसके रूप (Form), जैसे फाइल (File) इन्डिसीज (Indices) आदि से सम्बन्धित है। यह परिभाषित करती है। कि सेकण्डरी स्टोरेज (Secondary Storage) आदि में डेटा (Data) को किस प्रकार स्टोर किया जाएगा।

लॉजिकल डेटाबेस स्कीमा (Logical Database Schema ) – यह स्कीमा (Schema) डेटाबेस डिज़ाइन (Database Design) के तार्किक स्तर (Logical Level), जोकि यह दर्शाता है कि डेटाबेस (Database) में क्या डेटा (Data) स्टोर (Store) किया गया है और डेटा (Data) के मध्य क्या सम्बन्ध स्थित है, का वर्णन करती है। यह स्कीमा (Schema) स्टोर (Store) किए गए डेटा (Data) पर लागू करने के लिए आवश्यक समस्त तार्किक प्रतिबन्धों (Logical Constraints) को परिभाषित करती है। यह टेबल्स (Tables), ब्यूज़ (Views) और अखण्डता या सम्पूर्णता (Integrity) आदि प्रतिबन्धों (Constraints) को परिभाषित करती है।

एक डेटाबेस (Database) के ब्यू लेवल (View Level) पर अनेक स्कीमाज (Schemas) हो सकते हैं, जिनको सबस्कीमा (Subschema) कहा जाता है, और जो डेटाबेस (Database) के विभिन्न व्यूज़ (Views) का वर्णन करते हैं। डेटाबेस मैनेजमेन्ट सिस्टम (DBMS) में डेटा (Data) के प्रदर्शित होने की भौतिक व्यवस्था (Physical Arrangement) स्कीमा (Schema) है। एप्लीकेशन प्रोग्राम (Application Program) में डेटा (Data) के प्रदर्शित होने का लॉजिकल ब्यू (Logical View) सबस्कीमा (Subschema) है।

सबस्कीमा (Subschema) स्कीमा (Schema) का ही एक सबसेट ( Subset) है, जो उन सभी गुणधमों को धारण करता है, जोकि स्कीमा (Schema) के होते हैं। किसी व्यू (View) के लिए योजना (Plan) को अक्सर सवस्कीमा (Subschema) कहा जाता है। सबस्कीमा (Subschema) किसी एप्लीकेशन प्रोग्रामर (Application Programmer ) द्वारा प्रयोग किए जाने वाले डेटा आइटम टाइप्स (Data Item Types) और रिकॉर्ड टाइप्स (Record Types) के ब्यू (View) का उल्लेख करता है। यह यूजर्स (Users) को एक ऐसा माध्यम प्रदान करता है, जिसके जरिये वह डेटाबेस (Database) के केवल उस भाग को ही देख सकता है, जिसमें उसकी रुचि है। इसलिए विभिन्न एप्लीकेशन प्रोग्राम्स (Application Progams) के विभिन्न व्यूज़ (Views) हो सकते हैं।

मैं उम्मीद करता हूं कि आपको डेटाबेस स्कीमा और सबस्कीमा – Database Schema in Hindi समझ में आ गया होगा। आपको यह आर्टिकल कैसा लगा हमें कमेंट करके बताएं और यदि आपकी कोई सुझाव हो तो हमें ईमेल करें या जिससे हम आपके लिए और अच्छा कंटेंट प्रोवाइड करा सके।

यदि आपको मेरी यह लेख डेटाबेस स्कीमा और सबस्कीमा – Database Schema in Hindi जानकारी हिन्दी में अच्छा लगा हो या इससे आपको कुछ सिखने को मिला हो तब अपनी प्रसन्नता और उत्सुकता को दर्शाने के लिए कृपया इस पोस्ट को अपने दोस्तों और Social Networks जैसे कि Facebook, Twitter इत्यादि पर share करें जिससे ज्यादा से ज्यादा लोगों की हेल्प हो सके।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Subject Topics

Latest Topic