इन्स्टेन्सेज़ और स्कीमाज़ क्या हैं? Instances and Schemas in Hindi

डेटाबेस (Database) में सूचनाओं को डालने और अपुपयोगी सूचनाओं को मिटाने से यह समय के साथ परिवर्तित होता रहता है किसी एक विशिष्ट क्षण पर डेटाबेस (Database) में स्टोर की गई सूचनाओं (Stored Informations) 1 का संग्रह (Collection) डेटाबेस (Database) का इन्सटेन्स ( Instance) कहलाता है। डेटाबेस (Database) के समग्र डिज़ाइन (Design) को स्कीमा (Schema) कहा जाता है। स्कीमा (Schema) यदि किसी भी तरह से परिवर्तित होते हैं, तो कभी-कभी परिवर्तित होते हैं। डेटाबेस स्कीमाज़ (Database Schemas) और इन्स्टेन्सेज़ (Instances) की अवधारणा को किसी प्रोग्रामिंग लेंग्वेज (Programming Language) में लिखे प्रोग्राम (Program) की एनालॉगी (Analogy) द्वारा समझा जा सकता है। आइए जानते है इन्स्टेन्सेज़ और स्कीमाज़ क्या हैं? (Instances and Schemas in Hindi) और यह कैसे काम करता है।

डेटाबेस स्कीमा (Database Schema) किसी प्रोग्राम (Program) में सम्बद्ध टाइप परिभाषाओं (Type Definitions) के साथ वैरिएबल घोषणाओं (Variable Declarations) के अनुरूप होती है। दिए गए क्षण पर प्रत्येक वैरिएबल (Variable) का एक मान (Vaule) होता है। किसी विशिष्ट समय पर वैरिएबल्स (Variables) के मान के अनुरूप डेटाबेस स्कीमा (Database Schema) के इन्सटेन्स (Instance) होता है।

डेटाबेस स्कीमाज (Database Schemas) और इन्स्टेन्सेज़ (Instances) दोनों शब्दों में भेद करना महत्वपूर्ण है। डेटाबेस स्कीमा (Database Schema) डेटाबेस (Database) का ढांचा है। इसे तब डिज़ाइन किया जाता है, जब डेटाबेस (Database) किसी भी तरह से मौजूद नहीं होता और एक बार डेटाबेस (Database) के क्रियाशील हो जाने के उपरान्त इसमें कोई परिवर्तन करना अत्यन्त कठिन होता है डेटाबेस स्कीमा (Database Schema) में कोई डेटा (Data) अथवा सूचना (Information) नहीं होती।

डेटाबेस इन्स्टेन्सेज़ (Database Instances) किसी भी समय डेटा (Data) के साथ डेटाबेस (Database) की क्रियाशील अवस्था (Operational State) होती है। यह डेटाबेस (Database) का स्नैपशॉट (Snapshot) है डेटाबेस इन्स्टेन्सेज़ (Database Instances) समय के साथ परिवर्तित होते हैं। डेटाबेस मैनेजमेन्ट सिस्टम (DBMS) यह सुनिश्चित किरता है कि इसकी प्रत्येक इन्सटेन्स (Instance) डेटाबेस डिजाइनर (Database Designer) द्वारा लगाई गई वैलिडेशन्स (Validations), बाधाओं (Constraints) और परिस्थितियों (Conditions) को मानते हुए एक वैध अवस्था (Valid State) में हो।

मैं उम्मीद करता हूं कि आपको इन्स्टेन्सेज़ और स्कीमाज़ क्या हैं? (Instances and Schemas in Hindi) समझ में आ गया होगा। आपको यह आर्टिकल कैसा लगा हमें कमेंट करके बताएं और यदि आपकी कोई सुझाव हो तो हमें ईमेल करें या जिससे हम आपके लिए और अच्छा कंटेंट प्रोवाइड करा सके।

यदि आपको मेरी यह लेख इन्स्टेन्सेज़ और स्कीमाज़ क्या हैं? (Instances and Schemas in Hindi) जानकारी हिन्दी में अच्छा लगा हो या इससे आपको कुछ सिखने को मिला हो तब अपनी प्रसन्नता और उत्सुकता को दर्शाने के लिए कृपया इस पोस्ट को अपने दोस्तों और Social Networks जैसे कि Facebook, Twitter इत्यादि पर share करें जिससे ज्यादा से ज्यादा लोगों की हेल्प हो सके।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Subject Topics

Latest Topic